HomeBUSINESSNRAI Report; Delhi-Noida Samosa | Chole Bhature Chinese Dishes | दिल्ली-नोएडा वाले...

NRAI Report; Delhi-Noida Samosa | Chole Bhature Chinese Dishes | दिल्ली-नोएडा वाले समोसा-कचौड़ी ज्यादा खाते हैं: गुरुग्राम वालों को चाइनीज ज्यादा पसंद, कोरोना के बाद बाहर खाने वाले 32% बढ़े


नई दिल्ली28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
यह ग्राफिक 'मेटा AI' ने जनरेट किया है। इसके लिए 'Indian Street Food' प्रॉम्प्ट इनपुट दिया गया। - Dainik Bhaskar

यह ग्राफिक ‘मेटा AI’ ने जनरेट किया है। इसके लिए ‘Indian Street Food’ प्रॉम्प्ट इनपुट दिया गया।

दिल्ली के लोग डंपलिंग, टैको और साउथ इंडियन डिशेज से ज्यादा समोसे, कचौड़ी, पकौड़े, छोले भटूरे और कबाब पसंद करते हैं। यहां 51% लोग रेस्टोरेंट में नॉर्थ इंडियन स्नैक्स ही खाना पसंद करते हैं। वहीं, गुरुग्राम में 53% लोग चाइनीज फूड खाते हैं।

यह जानकारी नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) की इंडिया फूड सर्विस रिपोर्ट 2024 में सामने आई है। इसके मुताबिक दिल्ली के 32% लोगों ने माना है कि कोविड से पहले की तुलना में उनके बाहर खाने की आदत बढ़ गई है।

21 शहरों के 5,200 रेस्टोरेंट्स में हुआ सर्वे
इस डेटा के लिए NRAI ने देश के 21 शहरों के 5,200 रेस्टोरेंट में सर्वे किया है। इसके साथ ही रेस्टोरेंट चेन के 120 CEOs से भी उनके सबसे ज्यादा बिकने वाले और सबसे पॉपुलर फूड आइटम्स के बारे में जानकारी ली गई।

दिल्ली के 30% लोग बढ़िया खाना खाने रेस्टोरेंट जाते हैं
दिल्ली और नोएडा में लोग रेस्टोरेंट में जाना ज्यादा पसंद करते हैं। वहीं गुरुग्राम के लोग क्विक-सर्विस वाले रेस्टोरेंट में ज्यादा जाते हैं। रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में रहने वाले 30% लोग बढ़िया खाना, 20% क्विक सर्विस रेस्टोरेंट, 13% कैजुअल डाइनिंग, 11% फूड कोर्ट और 9% स्विट्स, आइसक्रीम और बेक्ड गुड्स पसंद करते हैं।

2028 तक फूड बिजनेस ₹7.76 लाख करोड़ का होगा
IFSR 2024 के अनुसार, वित्त वर्ष-24 तक भारतीय खाद्य सेवा उद्योग की वैल्यूएशन 5.7 लाख करोड़ रुपए होने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2028 तक यह बढ़कर 7.76 लाख करोड़ रुपए की हो जाएगी। इस दौरान इसकी CAGR 8.1% जबकि ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर में 13.2% की CAGR से ग्रोथ होने की उम्मीद है।

85.5 लाख लोगों को रोजगार देती है फूड सर्विस इंडस्ट्री
रिपोर्ट पब्लिकेशन के मौके पर NRAI प्रेसिडेंट और एज्योर हॉस्पिटैलिटी के को-फाउंडर कबीर सूरी ने कहा, ‘कोविड-19 महामारी के दौरान आई बाधाओं के बावजूद, भारत में फूड सर्विस इंडस्ट्री तेजी से डेवलप हो रही है। यह सेक्टर सीधे 85.5 लाख लोगों को रोजगार देता है और भारतीय राजकोष में 33,809 करोड़ रुपए का योगदान देता है।’

बाहर खाना खाने के लिए लोग हजारों रुपए खर्च कर रहे हैं, यहां देश में एवरेज थाली का रेट भी जान लीजिए/strong> …

ये खबर भी पढ़ें…

जून में वेज थाली की कीमत 10% बढ़ी: टमाटर-आलू और प्याज के भाव ने दाम बढ़ाए, नॉन-वेज थाली 4% सस्ती हुई

भारत में एक वेजिटेरियन थाली की कीमत जून में (सालाना आधार पर) 10% बढ़कर 29.40 रुपए हो गई है। पिछले साल जून 2023 में वेज थाली की कीमत 26.7 रुपए थी। क्रिसिल ने शुक्रवार (5 जुलाई) को जारी किए अपने फूड प्लेट कॉस्ट के मंथली इंडिकेटर में इस बात की जानकारी दी। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

spot_img