होली पर सिर्फ 10 दिन बनती है राजस्थान की यह स्पेशल मिठाई, स्वाद लेने के बाद झूम उठेगा दिल

0
3

[ad_1]

रवि पायक, भीलवाड़ा – रंगों का त्योहार होली पर कई प्रकार के आयोजन किए जाते हैं. होली में कई स्वादिष्ट व्यंजन भी बनाएं जाते है जो इस त्योहार की मिठास को बढ़ा देते हैं. आज हम आपको होली की एक ऐसी मिठाई के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने आप में बहुत खास है. पूरे साल में यह मिठाई होली के केवल 10 से 15 दिनों के बीच ही बनती है. सिंधी समाज के लोगोंं की ये फेवरेट मिठाई है.

मिठाई बनाने वाले किशन कहते हैं कि इस​ मिठाई को लोग अपने रिश्तेदारोंं के यहां भेजते हैं. इस मिठाई को खाने वालों का मानना है कि सिंधी घीयर के बिना सिंधी समाज के त्योहार अधूरे लगते हैं और यही नहीं विशेष रूप से यह मिठाई अपने घर की बेटियों को भी तोहफे में भेजी जाती है.

वर्तमान में भीलवाड़ा शहर के अलग-अलग चौराहों पर सिंधी घीयर मिठाई की दुकानें भी सजने लगी हैं जिन पर सुबह और शाम ग्राहकों की भीड़ दिखाई दे रही है.

जलेबी का है यह मिठाई बड़ा भाई –
कहने को तो यह मिठाई बिल्कुल इमरती और जलेबी की तरह दिखाई देती है. मगर साइज में यह बड़े भाई की तरह है. बनने से लेकर इसकी बनावट जलेबी की तरह होती है लेकिन स्वाद में यह है काफी अलग है .इस मिठाई को देखकर ना सिर्फ आपके मुंह में पानी आ जाएगा, बल्कि इसका स्वाद चखते ही आपका दिल खुशी से झूम उठेगा.

होली के सीजन में मात्र 10 दिन बनने वाली सिंधी घीयर मिठाई का पूरे साल भर इंतजार रहता है. यही नहीं सिंधी समाज में इस मिठाई ने विशेष प्रसिद्धि भी हासिल की है.

लड़ाई खत्म, पत्नी ज्योति सिंह का हाथ पकड़ शोरूम पहुंचे पवन सिंह, होली पर दिलाया लाखों का गिफ्ट

घर की बेटियों को तोहफे में भेजी जाती है मिठाई –
इस मिठाई को खाने वालों का मानना है कि सिंधी घीयर के बिना सिंधी समाज के त्योहार अधूरे लगते हैं और यही नहीं विशेष रूप से यह मिठाई अपने घर की बेटियों को भी तोहफे में भेजी जाती है. वर्तमान में भीलवाड़ा शहर के अलग-अलग चौराहों पर सिंधी घेवर मिठाई की दुकानें भी सजने लगी हैं

टैग: Bhilwara news, भोजन 18, स्थानीय18, राजस्थान समाचार

[ad_2]

Leave a reply