ये कोई पेड़ नहीं औषधीय गुणों का भंडार है, दूर हो जाएंगी कई बीमारियां – News18 हिंदी

0
4


संजय यादव/बाराबंकी: हमारे देश की सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धतियों में से एक आयुर्वेद है. आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से कई ऐसी बीमारियों को दूर किया जा सकता है जो बाकी किसी भी चिकित्सा पद्धति से ठीक नहीं होते. आयुर्वेद और जड़ी-बूटियों के जानकर काफी कम हैं. इसलिए लोग इसका इस्तेमाल सही से नहीं कर पाते. फिर भी जिन लोगों को आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति की जानकारी है, वह इससे बड़े से बड़े रोगों को ठीक करते हैं. हम आपको एक ऐसी ही जड़ी बूटी के बारे में बताने जा रहे हैं इसके इस्तेमाल से आप कई रोगों से छुटकारा पा सकते हैं.

दरअसल, हम बात कर रहे हैं चिलबिल के पौधे की. इसकी पत्तियां, बीज व तना हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है. इसमें तमाम चमत्कारी औषधीय गुण पाये जाते हैं. आयुर्वेद में चिलबिल के पेड़ का काफी महत्व है. इसके बीज व पत्तियां तना औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं. इसके पत्ते बीज व तना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं. ये हमें पीलिया, फीवर, एग्जिमा, कुष्ठ रोग, एसिडिटी व गैस संबंधित कई बीमारियों से छुटकारा दिलाता है.

कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है
बाराबंकी जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर अमित वर्मा (एमडी मेडिसिन) ने बताया चिलबिल एक ऐसा पेड़ है जिसकी पत्तियां बीज तना में बहुत सारे आयुर्वेदिक औषधि गुण मौजूद होते हैं. इसमें एंटी प्रॉपर्टी गुण होते हैं. अगर शरीर में कहीं विषैले हाईनेस वगैरा है तो इसकी पत्तियों का रस पानी के साथ सुबह शाम लेने से काफी हद तक आराम हो जाता है. वहीं अगर किसी को एग्जिमा या कुष्ठ रोग हो जाता है तो इसकी पत्तियों को पीसकर शहद में लेप बनाकर शरीर में लगा लें. करीब एक से डेढ़ घंटे तक छोड़ दिया जाए तो काफी हद तक यह बीमारी ठीक हो जाती है.

पीलिया में बेहद कारगर है चिलबिल
डॉक्टर अमित वर्मा (एमडी मेडिसिन) ने बताया की लिवर संबंधित परेशानी  जैसे पीलिया काफी बढ़ी हैं तो इसकी पत्तियों का रस लेना चाहिए. जिससे पीलिया को काफी हद तक कंट्रोल कर देता है. वहीं किसी को गैस की समस्या है या एसिडिटी ज्यादा रहती है तो उस कंडीशन में इसकी पत्तियों का रस सुबह शाम इस्तेमाल करना चाहिए काफी हद तक गैस व एसिडिटी ठीक हो जाती है. साथ ही साथ फीवर जोड़ों में दर्द जैसी समस्या हैं. वहां पर इसकी पत्तियों का रस का इस्तेमाल करना चाहिए काफी फायदा होता है.

टैग: स्वास्थ्य, स्थानीय18

Disclaimer: इस खबर में दी गई दवा/औषधि और स्वास्थ्य से जुड़ी सलाह, एक्सपर्ट्स से की गई बातचीत के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है, व्यक्तिगत सलाह नहीं. इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही कोई चीज उपयोग करें. Local-18 किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगा.

Leave a reply