भागलपुर के अद्भुत किसान, बिहार में उगाई फ्रेंच बीन्स, अब गर्मियों में भी ले सकते हैं स्वाद- News18 हिंदी

0
2

[ad_1]

सत्यम कुमार/भागलपुर: बिहार की कृषि प्रणाली में बदलाव देखने को मिल रहा है. लोग पुराने पैटर्न को छोड़कर नए-नए तरीके से खेती कर रहे हैं. खेती के लिए नए-नए फल और सब्जी पर प्रयोग भी किया जा रहा है. अभी जिस खेती के बारे में बात करने जा रहे हैं वह है बींस की खेती है. बींस अक्सर ठंडी के दिनों में देखने को मिलता है. लेकिन बिहार का यह किसान अब गर्मी में बींस उगा रहा है. भागलपुर के कजरेली के किसान गुंजेश गुंजन गर्मी के दिनों में इस सब्जी को उगा रहे हैं और अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं.

लोकल 18 से बात करते हुए गुंजेश ने बताया कि इसे फ्रेंच बींस कहते हैं. जिसे गर्मी में उगाया जा सकता है और इसकी अच्छी खासी कीमत बाजार में मिल जाती है. बींस एक ऐसी सब्जी है, जो गर्मी के दिनों में बाजार में उपलब्ध नहीं होती है, लेकिन हम ऐसी सब्जी पर ही प्रयोग करते हैं. जिसकी खेती यहां पर संभव नहीं हो पाती है. क्योंकि बाजार में इसका दाम अच्छा खासा मिलता है. इससे 3 से 4 गुना मुनाफा हो जाता है.

रिसर्च करने बाद की खेती
उन्होंने बताया कि हमने इससे पहले भी बींस की खेती की थी जो 20 से 22 रुपए किलो बाजार में बिके थे. लेकिन जब मैंने इस पर रिसर्च शुरू की तो मेरा महाराष्ट्र जाना हुआ था, जहां पर इस बींस को उगाया जाता है, यह फ्रेंच का बींस है. उसने बताया कि जब इस बींस को देखा तो इसके तरीके को सीखा और यहां आकर ट्रायल के रूप में मैंने 10 कट्ठे में इसको लगा दिया. जब इसका फलन हुआ तो काफी अच्छा फलन हुआ. लेकिन इसके लिए थोड़ी मेहनत करनी पड़ी, इसमें इसके अनुरूप कुछ प्राकृतिक दवाई का उपयोग करना पड़ा. इसके बाद इसका फलन होना शुरू हुआ.

यह भी पढ़ें- इस तकनीक से किसानों की बढ़ेगी आमदनी, 50% छूट पर मिलेंगे बीज, लागत का 3 गुना होगा मुनाफा

इस बींस की खासियत
गुंजेश ने बताया कि जब बाजार में बींस खत्म हो जाता है, तब यह बींस बाजार में उतरने लगता है. जिसकी कीमत 40 से ₹50 किलो हो जाती है. इसलिए इस खेती में अच्छा खासा मुनाफा हो जाता है. उन्होंने बताया कि मैंने यह बीज ऑनलाइन ही मंगाया था. गुंजेश ने बताया कि अगर कोई किसान इस खेती को करना चाहे तो यह काफी मुनाफे दायक खेती है और सबसे खास बात यह है कि उस बींस के मुकाबले इस बींस का वजन ज्यादा होता है. इसलिए और भी अत्यधिक फायदे इस खेती में देखने को मिल जाते हैं.

टैग: कृषि, भागलपुर समाचार, बिहार के समाचार, खाना, स्थानीय18, सब्ज़ियाँ

[ad_2]

Leave a reply