Tuesday, April 16

दोपहिया वाहनों के लिए एचएसआरपी, पुराने वाहनों के लिए हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, एचएसआरपी नंबर प्लेट ऑनलाइन – अमर उजाला हिंदी समाचार लाइव

0
6


दोपहिया वाहनों के लिए एचएसआरपी, पुराने वाहनों के लिए हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, एचएसआरपी नंबर प्लेट ऑनलाइन

सामान्य नंबर प्लेट और एचएसआरपी
– फोटो : Paytm

विस्तार


हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (एचएसआरपी) अब लगभग सभी राज्यों में अनिवार्य हो गई है। इसका मकसद वाहन सुरक्षा बढ़ाना और रजिसट्रेशन प्रॉसेस (पंजीकरण प्रक्रिया) को सुव्यवस्थित करना है। उत्तर प्रदेश में भी जल्द ही सभी वाहनों के लिए एचएसआरपी टेस्ट शुरू हो जाएगा। परिवहन आयुक्त ने आरटीओ और एसआरटीओ को एचएसआरपी प्लेटों के लिए वाहन परीक्षण प्रक्रिया को तेज करने के लिए कहा है। इसमें सबसे बड़ी चुनौती दोपहिया वाहनों की है। रिपोर्टों के मुताबिक, राज्य में 2 करोड़ से ज्यादा दोपहिया वाहन ऐसे हैं जिनमें अभी भी एचएसआरपी नंबर प्लेट नहीं लगी है। यूपी में एचएसआरपी नंबर प्लेट के बिना वाहनों पर 5000 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।

एचएसआरपी प्लेट क्या है?

एचएसआरपी एक विशेष प्रकार की वाहन पंजीकरण प्लेट है, जिसका मकसद पारंपरिक प्लेटों की तुलना में वाहनों को चोरी और दुरुपयोग से बचाना है। एचएसआरपी प्लेट एल्युमिनियम से बनी होती हैं और इन्हें छेड़छाड़ और अनधिकृत हटाने से रोकने के लिए विशिष्ट रूप से डिजाइन किया गया है। एचएसआरपी की खासियत इसकी स्थायी पहचान संख्या है, जिसे लेजर के जरिए प्लेट पर अंकित किया जाता है। इसके अलावा, हर प्लेट को अशोक चक्र की नीली क्रोमियम आधारित होलोग्राम और पंजीकरण संख्याओं पर गर्म मुद्रांकित फिल्म ओवरले से सुसज्जित किया जाता है, जो अतिरिक्त सुरक्षा उपाय प्रदान करता है।

परिवहन विभाग द्वारा एचएसआरपी अनिवार्यता का पालन करने वाले वाहन मालिकों के लिए प्रक्रिया को सुव्यवस्थित कर दिया गया है। ट्रांजिशन को आसान बनाने के लिए इंटीग्रेटेड वेब पोर्टल, www.siam.in बनाया गया। इस पोर्टल के जरिए, वाहन मालिक आसानी से अपने एचएसआरपी का ऑर्डर दे सकते हैं, इंस्टॉलेशन के लिए डीलर स्थान चुन सकते हैं और सुविधाजनक इंस्टॉलेशन की तारीख और समय निर्धारित कर सकते हैं। आम तौर पर, आवेदन के 15 से 20 दिनों के भीतर प्लेट तैयार हो जाती है, और निर्दिष्ट डीलर के जरिए शीघ्र ही इंस्टॉलेशन की व्यवस्था की जा सकती है।

एचएसआरपी नंबर प्लेट के लिए आवेदन करने के स्टेप:

  • http://www.siam.in पर जाएं और ऊपरी दाएं कोने में “बुक एचएसआरपी” पर क्लिक करें।
  • नाम, वाहन नंबर, फोन नंबर, ईमेल पता, राज्य और जिला जैसे बुनियादी डिटेल्स भरें। शर्तों से सहमत हों और सबमिट पर क्लिक करें।
  • अपना जिला और वाहन टाइप (2-पहिया, 3-पहिया, 4-पहिया, या वाणिज्यिक वाहन) चुनें, फिर अपना वाहन ब्रांड चुनें। आपको चार वेबसाइटों में से किसी एक पर भेज दिया जाएगा: bookmyhsrp.com, orderyourhsrp.com, getmyhsrp.com, या makemyhsrp.com।
  • अपना वाहन विवरण जैसे नंबर, चेसिस नंबर और इंजन नंबर दर्ज करें। संपर्क के लिए अपना पता, फोन नंबर और ईमेल प्रदान करें। ऑनलाइन भुगतान करें। यदि आप इन-स्टोर फिटिंग का विकल्प चुनते हैं, तो मनपसंद तारीख और समय स्लॉट चुनें।
  • एक बार भुगतान की पुष्टि हो जाने के बाद, आपको एक रिसीट हासिल होगी। प्लेट फिक्सिंग के लिए स्टोर पर जाने से पहले इसकी एक प्रति अपने पास रखें। आप या तो अपनी प्लेट को अपने घर पर डिलीवर कर सकते हैं या आसान इंस्टॉलेशन के लिए किसी नजदीकी शोरूम या वर्कशॉप में भेज सकते हैं।

यहां ध्यान रखने वाली बात यह है कि, ये प्लेटफॉर्म कैश ऑन डिलीवरी की सुविधा नहीं देते हैं, इसलिए पहले से भुगतान कर दें। इन चरणों का पालन करने से आपको सुचारू रूप से अपनी एचएसआरपी नंबर प्लेट हासिल करने में मदद मिलेगी।

एसआईएएम की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से एचएसआरपी नंबर प्लेट के लिए आवेदन करने के लिए इन चरणों का पूरी तन्मयता से पालन करें। यह वाहन सुरक्षा बढ़ाने और विनियामक जनादेशों के अनुपालन में योगदान देगा।

वाहन मालिकों को, खासकर 1 अप्रैल 2019 से पहले पंजीकृत वाहनों वालों को, एचएसआरपी की आवश्यकता का पालन करना होगा। पुरानी नंबर प्लेटों को नई एचएसआरपी प्लेटों से बदलने में विफल रहने पर परिवहन विभाग द्वारा दंड लगाया जा सकता है।

देश भर में एचएसआरपी का कार्यान्वयन वाहन सुरक्षा बढ़ाने और पंजीकरण प्रथाओं में मानकीकरण सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

Leave a reply