HomeBUSINESSदिल्ली ने पीयूसी प्रमाणपत्र शुल्क बढ़ाया: सभी वाहनों के लिए नई दरें...

दिल्ली ने पीयूसी प्रमाणपत्र शुल्क बढ़ाया: सभी वाहनों के लिए नई दरें घोषित | ऑटो समाचार


दिल्ली में पीयूसी प्रमाणपत्र शुल्क: परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने गुरुवार को बताया कि दिल्ली सरकार ने करीब 13 साल के अंतराल के बाद पेट्रोल, सीएनजी और डीजल वाहनों के लिए प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाणपत्र शुल्क बढ़ा दिया है। उन्होंने एक बयान में कहा कि दो और तीन पहिया वाहनों के लिए शुल्क 60 रुपये से बढ़ाकर 80 रुपये और चार पहिया वाहनों के लिए 80 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये कर दिया गया है।

गहलोत ने कहा कि डीजल वाहनों के लिए पीयूसी प्रमाणपत्र का शुल्क 100 रुपये से बढ़ाकर 140 रुपये कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार शहर की वायु गुणवत्ता बनाए रखने और यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि सभी वाहन आवश्यक प्रदूषण मानकों को पूरा करें।

प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र

यह वाहनों के लिए एक अनिवार्य दस्तावेज़ है जो यह सुनिश्चित करता है कि वे उत्सर्जन मानकों को पूरा करते हैं। वाहनों को नियमित अंतराल पर, आमतौर पर हर छह महीने में PUC परीक्षण से गुजरना चाहिए। PUC परीक्षण अधिकृत परीक्षण केंद्रों पर किए जाते हैं, जो आमतौर पर ईंधन स्टेशनों पर स्थापित किए जाते हैं।

सफल परीक्षण के बाद, PUC प्रमाणपत्र जारी किया जाता है, जो दर्शाता है कि वाहन का उत्सर्जन सरकार द्वारा निर्धारित कानूनी सीमाओं के भीतर है। सभी वाहनों के लिए वैध PUC प्रमाणपत्र होना अनिवार्य है। इसके बिना वाहन चलाने पर भारी जुर्माना और दंड लग सकता है।

पीयूसी प्रमाणपत्र कैसे प्राप्त करें?

— वाहनों के लिए अधिकृत पीयूसी परीक्षण केंद्रों पर जाएँ।
— ऑपरेटर उत्सर्जन दर की जांच के लिए इजेक्शन पाइप को स्कैन करेगा।
–प्रमाणपत्र उत्सर्जन स्तर के आधार पर जारी किया जाएगा।
— प्रमाण पत्र parivahan.gov.in पर अपलोड किया जाएगा

पीयूसी प्रमाणपत्र ऑनलाइन कैसे डाउनलोड करें?

– parivahan.gov.in पर जाएं
— ऑनलाइन सेवाओं के अंतर्गत “PUC प्रमाणपत्र” पर क्लिक करें।
— अपना वाहन पंजीकरण नंबर और अन्य विवरण दर्ज करें।
— “PUC विवरण” पर क्लिक करें।
— अब आप अपना प्रदूषण प्रमाण पत्र सुरक्षित रख सकते हैं।

(इनपुट- पीटीआई)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

spot_img