क्या है Unconditional Love? आपका रिश्‍ता शर्तों पर टिका है या प्‍यार पर, 3 लक्षणों से पहचानें

0
1

[ad_1]

बिना शर्त प्यार क्या है: अनकंडीशनल लव, या सीधे शब्दों में कहें तो बिना किसी बंधन या शर्तों के प्यार. यह वह प्‍यार है जिसका इजहार आप खुल कर करते हैं. इसके बदले कोई आपके लिए क्‍या किया या क्‍या नहीं किया, ये बातें आपके प्‍यार को प्रभावित नहीं करती. आप बस उन्हें प्यार करते हैं और उनकी खुशियों से ज्यादा कुछ नहीं चाहते. आमतौर पर इस तरह के प्‍यार की तुलना माता पिता का अपने बच्‍चे के लिए कहा जाता है और परिवार से भी इसका रिश्‍ता जोड़कर देखा जाता है. लेकिन ऐसा प्‍यार कई रोमांटिक रिश्तों में भी देखने को मिलता है. किसी की बेतहां परवाह करना और उसकी देखभाल करना, और बदले में कुछ नहीं पाने की इच्‍छा, ये वास्‍तविक जीवन में परियों की कहानी जैसा लग सकता है, लेकिन ऐसे रिश्‍ते संभव हैं और जीवनभर के लिए ये बने रह  जाते हैं और दूर रहते हुए भी टूटते नहीं. यहां हम आपको बताते हैं कि आप अपने जीवन में अनकंडीशनल लव को किस तरह पहचानें.

अनकंडीशनल लव की ऐसे करें पहचान

दिखावा नहीं होता
जब आप बिना अपनी रुचि के बारे में सोचे ही दूसरे के बारे में सोचें, उनका ध्यान रखें,  किसी की परवाह ना करें तो ये अनकंडीशनल लव है. अगर आप अपने बुरे वक्‍त के दिनों में भी पार्टनर के सपोर्ट में खड़े रहते हैं तो ये भी अनकंडीशनलव ही है. यही नहीं, ढेर सारी कमियों के बावजूद आप अपने पार्टनर से प्यार करते हैं, उसकी कमियों को सुधारने की कोशिश नहीं करते और ना ही उन्हें कभी अकेला छोड़कर चले जाते हैं. आप इस प्‍यार का दिखावा नहीं करते, बस जरूरत पर साथ खड़े मिलते हैं.

इसे भी पढ़ें : कम्युनिकेशन गैप के चलते भी सकती है रिश्ते में दूरियां, जरूर रखें 3 बातों का ख्याल, रिलेशनशिप बनी रहेगी स्ट्रॉन्ग

सुरक्षात्‍मक भावना
आप जब किसी को बिना किसी शर्तों के प्‍यार करते हैं तो आप दोनों के बीच एक कमाल की बॉन्डिंग बन जाती है और आप एक दूसरे को लेकर कभी भी असुरक्षित महसूस नहीं करते. आप दोनों को ही पता होता है कि आपके बीच कोई तीसरा नहीं आएगा और आप हर हालात में उसके करीब जीवन भर रहेंगे. आपको यह भी भरोसा रहता है कि आपके बीच कभी भी मिस अंडर स्‍टैंडिंग नहीं होगी, क्‍योंकि आप दोनों ही एक दूसरे के साथ खुल कर विचारों का आदान प्रदान कर लेते हैं.

ये भी पढ़ें: रिश्‍तों में बढ़ती जा रही है तकरार? घबराएं नहीं, ये 5 बेस्‍ट तरीके आजमाएं, आपसी कड़वाहट हो जाएगी दूर

खुद में दिखता है सकारात्‍मक बदलाव
आप अंदर से अधिक दयालु होने लगते हैं, आप यह महसूस करते हैं कि आप लोगों के प्रति अधिक सोचते हैं और आपको खुद से अधिक दूसरे की परवाह रहती है. इस स्थिति में आप अपना फायदा नहीं देखते, आप पहले यह देखते हैं कि आपके पार्टनर के लिए बेस्‍ट क्‍या होगा. आपके मन में यह भावना रहती है कि आप उन्‍हें बेहद प्‍यार करते हैं और उनकी परवाह करना अपकी जिम्‍मेदारी है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

टैग: जीवन शैली, संबंध

[ad_2]

Leave a reply