Sunday, March 3

क्या है Sleep Divorce, जिसमें कपल्‍स रात में फॉलो करते हैं खास नियम, रिश्‍ते को बचाने में क्‍यों माना जा रहा फायदेमंद

0
0


बेहतर रिश्ते के लिए नींद से तलाक: दिनभर की थकान और भागदौड़ के बाद अगर आप रात के वक्‍त पार्टनर के खर्राटों या उसके सोने की गलत आदतों की वजह से सो ना पाएं, तो यह आपके बीच के रिश्‍ते को बिगाड़ने का काम कर सकता है. शोधों में पाया गया है कि अगर आप पार्टनर के खरार्टे की वजह से बार बार उठ जा रहे हैं तो इसकी वजह से आपको स्‍लीप एप्निया, मूड स्‍विंग, फोकस का अभाव और पर्सनैलिटी में चेंज जैसी समस्‍याओं से जूझना पड़ सकता है. इस समस्‍या का समाधान है स्‍लीप डिवोर्स. जी हां, स्‍लीप डिवोर्स में पार्टनर रात के वक्‍त साथ नहीं सोते और अपनी सुविधाओं के अनुसार सोते हैं, जिससे उनकी नींद पूरी हो पाती है और वे अगले दिन एनर्जी के साथ उठ पाते हैं.

क्‍या कहना है मनोवैज्ञानिकों का
सीबीएसन्‍यूज से हेनेपिन हेल्थकेयर में मिनेसोटा रीजनल स्लीप डिसऑर्डर सेंटर के निदेशक डॉ। रणजी वर्गीस ने बताया कि अगर आप किसी के खर्राटे या नींद में अन्य स्थितियों की वजह से बार बार उठ जा रहे हैं तो आपकी नींद लगभग 50% बाधित हो सकती है. जिसकी वजह से आपमें फोकस की कमी, मूड स्‍विंग और पर्सनैलिटी में बदलाव की समस्‍या जन्‍म लेने लगती है. ऐसे हालात में कई बार पार्टनर के बीच मनमुटाव शुरू हो जाता है. अगर पार्टनर की वजह से आपकी नींद खराब हो रही है तो इससे आपके रिश्ते में समस्याएं पैदा भी हो सकती है.

स्‍लीप डिवोर्स के फायदे
-जब आप टेम्‍पररी स्‍लीप डिवोर्स के प्रोसेस में जाते हैं तो इससे नींद की कमी के लक्षणों से बचा जा सकता है.
-ऐसा करने से कपल्‍स बेहतर तरीके से नींद पूरा कर पाते हैं और उनके बीच का बिगड़ता रिश्‍ता भी ठीक होने लगता है.
-इससे नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है और आप कई मानसिक और शारीरिक समस्‍या से बच जाते हैं.
-कपल्‍स को अपना-अपना पर्सनल स्‍पेस मिलता है और वे अपनी सुविधा के मुताबिक सो पाते हैं.

ये भी पढ़ें: क्या है Unconditional Love? आपका रिश्‍ता शर्तों पर टिका है या प्‍यार पर, 3 लक्षणों से पहचानें

इसे भी पढ़ें : कम्युनिकेशन गैप के चलते भी सकती है रिश्ते में दूरियां, जरूर रखें 3 बातों का ख्याल, रिलेशनशिप बनी रहेगी स्ट्रॉन्ग

टैग: जीवन शैली, संबंध

Leave a reply