आपसी गलतफहमियां कमजोर कर देती हैं रिश्‍तों को, बचने के लिए 8 बातें हमेशा रखें याद, उम्र भर बनी रहेगी बॉन्डिंग

0
1


गलतफहमी से कैसे बचें: रिश्‍तों में मनमुटाव एक सामान्‍य सी बात है. लेकिन अगर आपके बीच शक पैदा होने लगे या गलतफहमियां जन्‍म लेने लगे तो ये आपके रिश्‍ते के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.  दरअसल, जब हम आपसी झगड़े में एक दूसरे की बातों को सुनना छोड़ देते हैं या अपनी बातों को बताना बंद कर देते हैं तो संदेह होना स्‍वाभाविक है. यही नहीं, कई बार तो हम लोगों की बातों में आ जाते हैं या ओवर थिंकिंग करने लगते हैं जिससे समस्‍या बढ़ने लगती है. धीरे धीरे ये अविश्‍वास को जन्‍म देने लगता है और रिश्‍ते में खटास आने लगती है. अगर आप आपसी रिश्‍ते में गलतफहमियों को दूर रखना चाहते हैं तो इन बातों को जरूर याद रखें.

गलतफहमियों को दूर रखने के उपाय
1.आपस में बातचीत के दौरान अधिक से अधिक सिंपल भाषा का प्रयोग करें .
2.जिस बात पर चर्चा हो रही है उसी बात पर फोकस करें.
3.कम बोलें. एक बार में दो से तीन लाइन ही बोलें और पार्टनर के प्रतिक्रिया का इंतजार करें. इसके बाद ही अपनी बात रखें.

4.आप क्‍या बता रहे हैं इसके लिए ‘मैं’ शब्‍द का प्रयोग कर बात करें, ना कि ‘लोग’ कह रहे थे आदि.
5.अगर आपको लग रहा है कि आप अपने पार्टनर की बातों को समझ रहे हैं तो उसकी बात को संक्षेप में उसके सामने बोलकर कंफर्म कर लें. मसलन, आप यह चाहते हैं कि…
6.कुछ भी बोलने से पहले आप पहले अपनी भावनाओं के बारे में सोच लें. क्‍योंकि भावनाएं कई बार हमारी बातों को प्रभावित करती हैं और हम वे चीजें बोल जाते हैं जो दरअसल हम नहीं चाहते.

इसे भी पढ़ें : रिश्‍तों में बढ़ती जा रही है तकरार? घबराएं नहीं, ये 5 बेस्‍ट तरीके आजमाएं, आपसी कड़वाहट हो जाएगी दूर

7.जब भी बात करें तो इस बात का ध्‍यान रखें कि आप किस टोन या लहजे में बात कर रहे हैं. यहीं नहीं, यह भी देखें कि आपका बॉडी लैंग्‍वेज कहीं आपकी बातों को गलत तो नहीं साबित कर रहे.
8.एक शब्द में बोलने से बचें. यह पार्टनर के मन में संदेह पैदा कर सकता है. इसलिए अगर वो कुछ पूछे तो पूरी तरह से अलर्ट होकर कम से कम दो से तीन लाइन में उनका जवाब दें.

इसे भी पढ़ें : आपका रिश्ता कितना मजबूत है? इन 4 बातों से लगाएं पता, कमियों को कर पाएंगे दूर

अगर आप इन बातों को अपनी आदत में शामिल कर लें तो आपके बीच कभी भी मिसअंडरस्‍टैंडिंग नहीं होगी और आपके बीच कोई तीसरा दखल नहीं करेगा.

टैग: जीवन शैली, संबंध



Leave a reply