आज का पंचांग, ​​28 मार्च, 2024: तिथि, व्रत और आज का शुभ, अशुभ मुहूर्त

0
2


आखरी अपडेट: 28 मार्च, 2024, 05:00 IST

आज का पंचांग, ​​28 मार्च, 2024: सूर्य संभवतः सुबह 6:15 बजे उगेगा और शाम 6:37 बजे अस्त होगा।  (छवि: शटरस्टॉक)

आज का पंचांग, ​​28 मार्च, 2024: सूर्य संभवतः सुबह 6:15 बजे उगेगा और शाम 6:37 बजे अस्त होगा। (छवि: शटरस्टॉक)

आज का पंचांग, ​​28 मार्च, 2024: तिथि, शुभ और अशुभ समय और अन्य विवरण यहां देखें।

आज का पंचांग, ​​28 मार्च, 2024: द्रिक पंचांग के अनुसार 28 मार्च को कृष्ण पक्ष की तृतीया और चतुर्थी तिथि रहेगी। भक्त इस दिन भालचंद्र संकष्टी मनाएंगे, उनका मानना ​​है कि भालचंद्र संकष्टी चतुर्थी के दौरान उपवास करने से महत्वपूर्ण जीवन चुनौतियों पर काबू पाने में मदद मिल सकती है। किसी भी धार्मिक अनुष्ठान या दैनिक गतिविधियों को शुरू करने से पहले तिथि, शुभ तिथियों और अशुभ समय पर सावधानीपूर्वक विचार करने की सलाह दी जाती है। ये अंतर्दृष्टि प्रभावी योजना और समस्या-समाधान रणनीतियों के लिए अमूल्य हो सकती हैं।

28 मार्च को सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय और चंद्रास्त

सूर्य संभवतः सुबह 6:15 बजे उगेगा और शाम 6:37 बजे अस्त होगा। इसके अतिरिक्त, चंद्रमा के रात 9:28 बजे उदय होने और सुबह 7:43 बजे अस्त होने की उम्मीद है।

28 मार्च के लिए तिथि, नक्षत्र और राशि विवरण

अनुमान है कि तृतीया तिथि शाम 6:56 बजे तक रहेगी और उसके बाद चतुर्थी तिथि प्रभावी होगी। स्वाति नक्षत्र शाम 6:38 बजे तक रहेगा, उसके बाद विशाखा नक्षत्र रहेगा। चंद्रमा कर्क राशि तुला राशि में होने का अनुमान है। पूरे दिन सूर्य के मीना राशि में स्थित रहने की उम्मीद है।

SHUBH MUHURAT FOR MARCH 28

ब्रह्म मुहूर्त सुबह 4:42 बजे से 5:29 बजे तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12:01 बजे से 12:51 बजे तक रहेगा। बाद में दिन में, गोधूलि मुहूर्त शाम 6:36 बजे से 6:59 बजे के बीच और विजया मुहूर्त दोपहर 2:30 बजे से 3:19 बजे के बीच होने की उम्मीद है। इसके अतिरिक्त, भक्त शाम 6:37 बजे से शाम 7:47 बजे तक सयाना संध्या मुहूर्त और सुबह 5:06 बजे से सुबह 6:15 बजे तक प्रातः संध्या मुहूर्त देख सकते हैं।

ASHUBH MUHURAT FOR MARCH 28

दिन के लिए शुभ मुहूर्त या अशुभ समय इस प्रकार हैं: दिन में दोपहर 1:59 बजे से दोपहर 3:32 बजे तक राहु कलाम होगा, उसके बाद सुबह 9:21 बजे से 10:54 बजे तक गुलिकाई कलाम होगा। इसके अतिरिक्त, यमगंडा मुहूर्त सुबह 6:15 बजे से सुबह 7:48 बजे तक प्रभावी रहने का अनुमान है, जबकि बन्ना मुहूर्त दोपहर 3:14 बजे तक राजा में होने की उम्मीद है। किसी भी हानिकारक परिणाम से बचने के लिए व्यक्तियों को इन समयों के बारे में पता होना चाहिए और तदनुसार अपने कार्यों को निर्धारित करना चाहिए।

Leave a reply